कांग्रेस के प्रति केजरीवाल का दोहरा चरित्र उजागर- Ravi Tiwari, Youth leader of the BJP Delhi

Delhi Politics: भाजपा दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (youth leader Ravi Tiwari) ने केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर कांग्रेस (Congress) को लेकर दोहरा चरित्र रखने का आरोप लगाया और कहा कि मुख्यमंत्री (Delhi CM) बनने के पहले केजरीवाल लगातार कांग्रेस के भ्रष्टाचार और घोटालों की फाइल लेकर घूमा करते थे पर अचानक ही चुनाव सम्पन्न होने के बाद उसी कांग्रेस की मदद से सरकार क्यों बनाई थी? राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और सोनिया (Sonia Gandhi) समेत कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के प्रति उनके दृष्टिकोण में जो भी परिवर्तन आया उसके क्या कारण हैं?

 

अरविंद केजरीवाल के चरित्र में यह दोहराव या दोगलापन आखिर क्यों आया? कांग्रेस रातों-रात ईमानदार हो गयी थी, या फिर केजरीवाल अपने सिद्धांतों से समझौता करके भ्रष्टाचार के दलदल में पांव रखने को विवश हो गये थे। वह राजनीति को शुद्ध करने आये थे और भ्रष्टाचार के सबसे बड़े पर्याय बन गये। भ्रष्टाचारियों की वह फाइल कहां खो गई? जो वह आंदोलन के दौरान लेकर के घूमा करते थे। आप सोशल मीडिया में वायरल वीडियोज में साफ तौर पर देख सकते हैं एक तरफ उनके मुख्यमंत्री बनने के पहले के बयान और दूसरी तरफ बाद के बयान। दोनों ही बयानों में उनके दृष्टिकोण में परिवर्तन साफ तौर पर देखा जा सकता है। केजरीवाल और उनके पार्टी के नेताओं का कांग्रेस के प्रति बदले हुये नजरिये का विश्लेषण भाजपा दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) इस लेख के माध्यम से करेंगे-

घोटालों पर क्या था रुख?

 

भारतीय जनता पार्टी दिल्ली (BJP Delhi) ने एक्स (पहले ट्विटर) पर यह वीडियो साझा किया। रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने केजरीवाल पर सांठ-गांठ का आरोप लगाते हुए कहा कि सोशल मीडिया में वायरल इस वीडियों के अंदर एक तरफ केजरीवाल को साफ तौर पर भ्रष्टाचार एवं घोटालों के लिये कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए देखा जा सकता है। वीडियों मे वह कहते हैं कि कांग्रेस ने आकाश से पाताल तक घोटाले किये। कोयला घोटाला, 2जी घोटाला, अगस्ता-वेस्टलैंड घोटाला, कॉमनवेल्थ घोटाला जैसे अनेकों घोटाले कांग्रेस के शासन काल में हुए। लेकिन चुनाव जैसे ही सम्पन्न हुए केजरीवाल उसी कांग्रेस की गोद में जाकर बैठ गये और सरकार बनाई। रवि तिवारी (Ravi Tiwari) और जनता के इन सवालों का जवाब केजरीवाल को देना ही होगा।

सोनिया गाँधी पर भी बदला स्टैंड?

 

आप नेता संजय सिंह (AAP leader Sanjay Singh) ने भी अगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद मामले में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। वायरल वीडियो में संजय सिंह सीधे सोनिया गाँधी (Sonia Gandhi), अहमद पटेल (Ahmed Patel) एवं एस.पी.त्यागी (CP Tyagi) पर घोटाले का आरोप लगाते हैं। इन लोगों को वह प्रत्यक्ष तौर पर भ्रष्टाचार का दोषी मानते हैं। लेकिन फिर उन्होंने यू-टर्न लेते हुए कहा कि सोनिया गाँधी के पूरे राजनीतिक जीवन में कोई भी दाग नहीं है, वह पूरी तरह से भ्रष्टाचार मुक्त हैं। आखिर आप नेताओं का यह दोहरा चरित्र कितना उचित है? क्या उन्होंने अन्दर ही अन्दर कांग्रेस से कोई समझौता कर लिया है कि अब देश को मिलकर लूटा जायेगा। कभी केजरीवाल ने कहा था कि कांग्रेस के साथ गठबन्धन का तो सवाल ही नहीं उठता है, लेकिन उन्होंने न सिर्फ कांग्रेस के साथ सरकार बनाई बल्कि अब तो महागठबंधन का भी हिस्सा हैं। भाजपा दिल्ली के नेता रवि तिवारी (BJP Delhi Youth leader, Ravi Tiwari) ने जनता के मन में उठ रहे सवालों का जवाब मांगा है।

 

इसके साथ ही भाजपा दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि वीडियो के अन्दर केजरीवाल मुख्यमंत्री पद ग्रहण करने के पहले कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) को भी कठघरे में खड़ा करते हुए कहते हैं कि उनके मंत्री बनने के 24 घंटे के भीतर ही उन्होंने घोटाले (Scam) करने शुरू कर दिये। फिर वही केजरीवाल उन्हें ईमानदार नेता बताते हैं। इन सारे सवालों के जवाब जनता के मन में है और केजरीवाल को आगे आकर सफाई देनी चाहिए।