Delhi News: केजरीवाल सरकार के खिलाफ MCD सफाई कर्मचारियों का धरना- Ravi Tiwari, Young leader of the BJP Delhi

भाजपा दिल्ली के युवा नेता रवि तिवारी (youth leader of the BJP Delhi Ravi Tiwari) ने  केजरीवाल सरकार पर सफाई कर्मचारियों से वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने चुनावों के दौरान सफाई कर्मचारियों को नियमित करने का वादा किया था, लेकिन अब वो अपनी बात से मुकर गए हैं। दिल्ली के सभी नगर निगम सफाई कर्मचारी बुधवार से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि उन्हें नियमित किया जाए। सफाई कर्मचारी पिछले कई वर्षों से इस मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन दिल्ली सरकार उनकी मांगों को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है।

 

तिवारी ने कहा कि सफाई कर्मचारी दिल्ली की जनता के लिए अहम भूमिका निभाते हैं। वो दिल्ली की सफाई व्यवस्था को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ऐसे में उनकी मांगों को पूरा करना दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी है। सफाई कर्मचारियों का कहना है कि वो ठेके पर काम कर रहे हैं। इस दौरान उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा है। उन्हें समय पर वेतन नहीं मिलता है, उन्हें सुरक्षा के उपकरण नहीं मिलते हैं और उन्हें कई बार शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है। सफाई कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। अगर उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो वो अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दे चुके हैं।

इतने सफाईकर्मियों की है आवश्यकता?

 

दिल्ली के अंदर साफ-सफाई व्यवस्था एक बड़ी समस्या है। पूरे शहर में कूड़े का अम्बार लगा हुआ है, जिसकी वजह से लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन्हे साफ करने के लिए पर्याप्त सफाई कर्मचारियों की आवश्यकता है, जो कि फ़िलहाल अभी नहीं हैं। इस समय दिल्ली शहर में नियमित 50,000 सफाई कर्मचारियों की आवश्यकता है। लेकिन दिल्ली सरकार सिर्फ 7000 संविदा कर्मियों को ही भर्ती कर रही है। ऐसे में इन पर जरुरत से ज्यादा कार्यभार आ जायेगा। और फिर इन्हे नियमित कर्मचारी के तौर पर भी नहीं रख जायेगा जिसकी वजह से किसी भी दुर्घटना की स्थिति में कोई भी जिम्मेदार नहीं होगा। केजरीवाल सरकार का यह सरासर जनता से वादाखिलाफी नहीं तो और क्या है? भाजपा दिल्ली के युवा नेता रवि तिवारी (youth leader of the BJP Delhi Ravi Tiwari) ने बताया कि चुनाव के समय केजरीवाल ने कहा था कि सभी सफाईकर्मियों को नियमित कर दिया जायेगा लेकिन किया कुछ भी नहीं।

 

भाजपा दिल्ली के युवा नेता रवि तिवारी (youth leader of the BJP Delhi Ravi Tiwari) ने कोरोना के दौरान अपना काम करते हुए जिन सफाई कर्मचारियों की मौत हुई थी उनको अभी तक मुआवजा नहीं दिया गया है। नियमित होते तो मुआवजा भी मिल जाता। आखिर सबसे कठिन और सबसे जरूरतमंद काम करने वालों पर ही केजरीवाल क्यों गाज गिरा रहे हैं? जिन सफाई कर्मचारियों की मौत कोरोना के दौरान हुई थी। उनको जल्द ही सहायता पहुंचाई जाये।

 

दिल्ली सरकार को सफाई कर्मचारियों की मांगों पर गंभीरता से विचार करना चाहिए और उन्हें जल्द से जल्द नियमित करना चाहिए। इससे दिल्ली की सफाई व्यवस्था को मजबूती मिलेगी और सफाई कर्मचारियों को भी एक बेहतर भविष्य मिलेगा।