केजरीवाल ने अपने बंगले की मरम्मत में खर्चे 29 करोड़ रुपये- रवि तिवारी (Ravi Tiwari), भारतीय जनता पार्टी दिल्ली (BJP Delhi)

भारतीय जनता पार्टी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने कहा कि आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के आम आदमी होने के दावों की पोल खुल चुकी है। उन्होंने केजरीवाल को झूठे सपने बेचने वाले ठग की संज्ञा दी। केजरीवाल ने जब अन्ना हजारे के साथ आंदोलन किया था तो उन्होंने बड़े-बड़े दावे किये थे। उन्होंने किसी भी तरह की सरकारी सुविधा लेने से इंकार कर दिया था। उन्होंने तो चुनाव लड़ने तक के लिए मना कर दिया था। लेकिन बात की जाये वर्तमान की तो उनके सारे दावे की पोल वह स्वयं ही खोलते नजर आ रहे हैं। सरकारी आवास न लेने का दावा कर राजनीति की शुरुआत करने वाले केजरीवाल ने न केवल सरकारी आवास समेत तमाम अन्य सरकारी सुख-सुविधाओं को ग्रहण किया। बल्कि अपने आवास के सिर्फ छुट-पुट कामों के लिए ही 29 करोड़ रुपये खर्च  दिए।

 

यह RTI की एक रिपोर्ट में सामने आया है। इस रिपोर्ट का हवाला देकर भारतीय जनता पार्टी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी ने केजरीवाल पर निशाना साधा है। भारतीय जनता पार्टी ने भी इसे लेकर दिल्ली सरकार पर सवाल दागा है। केजरीवाल को अब आम आदमी का चोला उतारकर फेंक देना चाहिए। सत्ता सुख का भोग करके अपनी जिम्मेदारियों से किनारा करने वालों को आम आदमी नहीं कहा जा सकता है। एक तरफ जहा दिल्ली की आम जनता प्रदूषण से मर रही थी वही दूसरी तरफ मुख्यमंत्री जनता का कष्ट दूर करने के बजाय पहले तो विपश्यना यात्रा पर चले गए। फिर उसके बाद उनका एक और कारनामा इस रूप से सामने आता है। जनता की समस्याओ से उनको कोई भी सरोकार नहीं रह गया लगता है।

क्या था RTI रिपोर्ट में?

 

एक्स (पहले ट्विटर) पर एक यूजर ने RTI की एक रिपोर्ट शेयर की है। इस रिपोर्ट में साफ तौर देखा जा सकता है कि मुख्यमंत्री आवास के मरम्मतीकरण पर ही सिर्फ 29 करोड़ रुपये फूंक दिए गए हैं। इस रिपोर्ट में खर्चे का सारा ब्यौरा दिया गया है। इस शख्स ने RTI में दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास पर हुए कुल कामों का खर्चा एवं ठेका को लेकर प्रश्न किया था। कार्यो में इलेक्ट्रिक वायरिंग, प्लंबिंग, लकड़ी के काम, फर्श से सम्बंधित कार्यो का खर्च माँगा गया था। जिसके जवाब में लोक निर्माण विभाग दिल्ली ने बताया कि मुख्यमंत्री आवास पर प्लंबिंग, लकड़ी और बिजली से सम्बंधित कामो पर 29 करोड़ से अधिक खर्च किये गए हैं। वही इन कार्यो के ठेकेदारों के जवाब में बताया गया कि इनका ठेका मुंजरीन अहमद, मोहम्मद अरशद नामक व्यक्तियों को दिया गया था। करोंडो की टाइल्स, संगमरमर पत्थर और 8 लाख तक की कीमत के पर्दे लगवाए गए हैं। कुछ इस तरह की है आम आदमी पार्टी के मुखिया की खास जिंदगी और उनका शीशमहल। जिस जनता की किस्मत बदलने का वादा करके उन्होंने मुख्यमंत्री की कुर्सी हथिया ली वह जनता कभी भी इस तरह के आलीशान बंगले का ख्वाब भी नहीं देख सकती।

भारतीय जनता पार्टी (BJP Delhi) बरसी केजरीवाल पर

 

इस घटना के खुलासे के बाद से ही बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के प्रमुख नेता केजरीवाल पर हमलावर हैं। उनसे लगातार इन खर्चो का ब्यौरा देने को लेकर सवाल खड़ा किया जा रहा है। जनता की गाढ़ी कमाई को बेदर्दी से बर्बाद करने के लिए केजरीवाल को माफ़ी मांगनी चाहिए। संबित पात्रा एवं रवि तिवारी (Ravi Tiwari) समेत दिग्गज नेताओं ने केजरीवाल को कठघरे में खड़ा किया और उनसे जवाब माँगा।