बीजेपी रवि तिवारी (Ravi Tiwari): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मथुरा की श्रीकृष्ण जन्मभूमि पहुंचकर मीराबाई के 525वें जन्मोत्सव में लिया हिस्सा

बीजेपी नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने पीएम के श्रीकृष्णजन्मभूमि मथुरा के दौरे पर अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हमारे देश भारत को स्वतंत्रता प्राप्त हुए एक अरसा बीत चुका है। हमें अंग्रेजों से भौतिक आजादी मिल चुकी है। लेकिन हम भारतीय आज भी मानसिक रुप से गुलाम ही हैं।

 

2014 के बाद से जब से यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश की सत्ता संभाली है, तब से इस पैटर्न में थोड़ा परिवर्तन देखने को मिल रहा है।

भारत ने छद्म धर्मनिरपेक्षता के भ्रम जाल में अपनी संस्कृति और विरासत को जिस तरह से बर्बाद किया है। भारतीयों विशेषकर सनातनियो ने अपने ही पूर्वजों को जिस तरह शर्मसार किया है, वह अपने आप में एक नायाब उदहारण प्रस्तुत करता है।

 

बीजेपी नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगमन बीते कल में गुरुवार (23 नवंबर 2023) को मथुरा में हुआ। वहाँ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी आगवानी करते हुए स्वागत किया। प्रधानमंत्री सीधे श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर पहुँचे और वहाँ गर्भगृह में पूजा-आराधना की।

 

प्रत्येक क्रिया-कलाप में लगातार उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी उपस्थित रहीं। इस तरह, आजादी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर में कदम रखने वाले पहले प्रधानमंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

 

बीजेपी नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि सबसे पहले प्रधानमंत्री ने गर्भगृह में श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना की और दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त किया।  इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भागवत भवन के लिए ऊपरी तल पर गए। दरअसल, प्रत्येक वर्ष ब्रज रज में महान संत एवं कृष्णभक्त रहीं मीराबाई की जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में उत्सव मनाया जाता है।

 

प्रधानमंत्री इसी उत्सव में प्रतिभागी बनने के लिए आए हैं। जैसे मीराबाई कृष्ण की भक्ति में भाव-विभोर होकर अपनी सुध-बुध खोकर नृत्य करती थीं, उन्हीं को याद करते हुए इस उत्सव में मथुरा से सांसद हेमामालिनी मीराबाई पर आधारित नृत्य नाटक प्रस्तुत करेंगी।

 

यह मीराबाई जी का 525वां जन्मोत्सव है। इस शुभावसर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने डाक टिकट और 525 रुपये का एक विशेष स्मारक सिक्का भी जारी किया। यह भारत में जारी किया गया 525 रुपये के मूल्य का पहला सिक्का है। 525 रुपये के इस सिक्के के एक तरफ अशोक स्तम्भ बना है, उसके नीचे 525 रु अंकित है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहाँ पर मीराबाई जी पर आधारित पांच मिनट की डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी देखी। दर्शकों को विदित होगा कि महान संत मीराबाई जी की श्रीकृष्ण में अटूट श्रद्धा थी। वह श्रीकृष्ण की अपने आप में एक अनोखी भक्त थीं।

उनका श्रीकृष्ण के प्रति प्रेम, कृष्ण की भक्ति में गाते हुए नृत्य करना और रो देना उनको एक विशेष श्रेणी में रखता है। कृष्ण की भक्ति का ऐसा रंग चढ़ा की उन्होंने कई छंदो, भजनों एवं ग्रंथो की रचना कर दी। 

 

बीजेपी नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृष्णजन्मभूमि मथुरा के दौरे का दिलचस्प वर्णन किया। रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने पीएम के इस दौरे की काफी विस्तारपूर्वक चर्चा की और इसे काफी हैरानी भरा और दुर्भाग्यपूर्ण बताया कि आखिर क्यों और कैसे भारत के प्रधानमंत्री को कृष्णजन्मभूमि तक पहुँचाने में इतने वर्षो का समय लग गया।

 

अब तो किसी अंग्रेज का शासन नहीं था कि जिससे अनुरोध करके उसकी आज्ञा से जाना पड़ता। यह कुल भारत में एक कलंक के तौर पर उपजी दो कौड़ी की छद्म धर्मनिरपेक्षता का ही परिणाम था कि सनातनियों को उनकी ही जड़ो से अलग करके उनके महान संस्कृत और विरासत से वंचित रखने का काम किया जा रहा है।