रवि तिवारी (Ravi Tiwari): बांग्लादेशी घुसपैठियों का नाम मतदाता सूची में दर्ज करा रही है TMC और CM Mamata Banerjee

बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने पत्रकारों से बातचीत में खुलासा किया कि पश्चिम बंगाल में लगातार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अवैध रूप से बांग्लादेशी घुसपैठियों को शरण देती हैं। इसके बाद कुछ समय गुजरने के पश्चात् उन्हें भारत का नागरिक मानकर मतदाता सूची में नाम दर्ज करवा दिया जाता है। यही काम वह पिछले कुछ वर्षो से लगातार मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए करती आयी हैं।

 

कारण स्पष्ट है कि अधिक से अधिक संख्या में अपने वोटर्स को बढ़ाना और सत्ता पर काबिज रहना। चाहे इसके लिए उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा से ही समझौता क्यों न करना पड़े। ममता बनर्जी जैसी नेताओ के लिए राष्ट्र और राष्ट्रीय सुरक्षा उतना बड़ा मुद्दा नहीं है जितना कि एक पार्टी विशेष का हित या व्यक्तिगत स्वार्थ।

क्या है पूरा मामला?

 

बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) की एक नेता के बयान के बाद अत्यधिक विवाद पैदा हो गया है। टीएमसी नेता रत्ना बिस्वास ने यह कहा कि उत्तर 24 परगना जिले में जितने भी बांग्लादेशी अवैध रूप से रह रहे हैं, उन सभी का नाम मतदाता सूची में जल्द से जल्द दर्ज कराया जाय।

 

आगामी लोकसभा चुनाव ज्यादा दूर नहीं है ऐसे में अपने वोटर्स की संख्या बढ़ाने की सख्त जरुरत है। सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। यदि मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने को लेकर कोई समस्या आती है तो उन्होंने किसी जाकिर भाई से जाकर मिलने की बात कही।

भाजपा ने किया तृणमूल कांग्रेस पर जोरदार हमला?

 

बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी ने मामले की गंभीरता को समझते हुए ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर जोरदार हमला बोला है। बता दें कि इस समय पश्चिम बंगाल में भाजपा दूसरे नंबर की पार्टी है। इस समय भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकान्त मजूमदार हैं। उन्होंने कहा कि, "सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस का यह कोई पहला कुकृत्य नहीं है, पिछले कई वर्षो से वह अंदरखाने इस पर काम कर रही है।

 

अपना जनाधार बढ़ाने के लिए लगातार अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों का नाम मतदाता सूची में जोड़ा जाता रहा है। इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए। यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से भी काफी खतरनाक है। किसी पार्टी या नेता के छद्म स्वार्थो के लिए देश को खतरे में नहीं डाला जा सकता है।" उन्होंने इस मामले की त्वरित कार्यवाई की मांग की है।

जो तृणमूल कांग्रेस (TMC) का समर्थक हो उसी का हो मतदाता सूची में नाम: TMC विधायक

 

बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि पश्चिम बंगाल में बांग्लादेश से आकर बस रहे नागरिको का नाम मतदाता सूची में डालने का मामला कोई नया नहीं है। बहुत सारे बांग्लादेशी नागरिक ऐसे भी हैं जो हिन्दू भावनाओं के कारण बीजेपी का समर्थन करते हैं। ऐसे में एक टीएमसी विधायक ने कहा कि मतदाता सूची में नाम दर्ज करने से पहले यह जरूर जाँच ले कि वह तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी का ही समर्थक हो।

 

अन्यथा किसी ऐसे व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में डालने से परहेज किया जाय जो बीजेपी जैसी अन्य पार्टी का समर्थन करता हो। इस तरह के बयान से यह साबित होता है कि तृणमूल कांग्रेस के शासन में पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र पूरी तरह से ख़त्म हो चुका है। पश्चिम बंगाल में सत्ता परिवर्तन बहुत जरुरी हो चुका है।

पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं को लगातार बनाया जा रहा है निशाना?

बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि पश्चिम बंगाल में राजनैतिक स्वार्थ अपने चरम पर है। यहाँ पर सत्ता किसी भी तरीके से सत्ता पर काबिज रहने की मानसिकता इतनी गहरी हो चुकी है कि किसी एक समुदाय विशेष को हर प्रकार की सुविधाएं और सहूलियतें दी जा रही हैं।

 

वहीं पर हिन्दू समुदाय को लगातार सुविधाओं से वंचित रखा जा रहा है। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के शासनकाल में हिन्दुओ पर हो रहे अत्याचार की घटनाओ में भारी वृद्धि हुई है। इन सारी घटनाओं से साफ पता चलता है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हिन्दू विरोधी मानसिकता के कारण वहां पर हिन्दू मूलभूत सुविधाओं से भी वंचित है। हर समय उनको जान का खतरा रहता है सो अलग।