Ravi Tiwari: Jammu-Kashmir के परिवर्तन की चर्चा और लोकसभा चुनाव की चुनौतियाँ

स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात् भारत की महान और पवित्र भूमि को दो टुकड़ों में विभाजित होना पड़ा। यह बँटवारा धर्म व मजहब के आधार पर हुआ था। पाकिस्तान, भारत से अलग होकर एक अन्य देश बना और पाकिस्तान ने भारत से अलग होते ही अपने आप को मुस्लिम राष्ट्र के रूप में पूरे विश्व में प्रस्तुत किया। भारत और पाकिस्तान के बीच बँटवारे का यह विवाद आज भी कश्मीर समस्या के रूप में निरंतर जारी है। 

 

Ravi Tiwari ने यह भी बताया कि कैसे स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात् जम्मू-कश्मीर में सिर्फ राजनीतिक सत्ता हथियाने का नीचतापूर्ण कार्य भारत के नेताओं की ओर से होता रहा है। कभी भी जम्मू-कश्मीर के निवासियों को वह गौरव और सम्मान नहीं मिला, जिसके वे अधिकारी थे। तुष्टिकरण की राजनीति, आतंकवाद, बेरोजगारी, युवाओं में अवसाद अपने चरम पर था। कश्मीर में मूल निवासियों कश्मीरी हिन्दुओं को वहाँ से अपमानजनक हालत में अपना घर-बार छोड़कर आना पड़ा। 

 

परन्तु आज भारत में यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में परिस्थितियाँ पूरी तरह से बदल चुकी हैं। जम्मू-कश्मीर, जहाँ एक समय हिन्दुओं का कत्लेआम आम बात थी। पत्थरबाजी और आतंकवाद, जम्मू-कश्मीर की पहचान बन चुकी थी। आज जम्मू-कश्मीर के हालात पूरी तरह से भारत के अन्य राज्यों की तरह सामान्य हो चुके है। रवि तिवारी ने यह बताया कि इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि स्वतंत्रता प्राप्ति के इतने वर्षों के पश्चात् वहाँ पर नवरात्रि पूजा का आयोजन किया गया। 

 

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में छत्रपति वीर शिवाजी महाराज की प्रतिमा का अनावरण किया गया जो कि जम्मू-कश्मीर सहित सम्पूर्ण भारत के भौगोलिक एवं मानसिक रूप से बदलती तस्वीर का एक नायाब उदाहरण है। 1990 के दशक में भारत के इतिहास पर एक बदनुमा दाग के समान वह काला दिन जब कश्मीरी हिन्दुओ पर हो रहे अत्याचार के कारण उनको अपना घर छोड़कर देश के अन्य हिस्सों में शरण लेनी पड़ी थी। कश्मीरी हिन्दुओ के कश्मीर छोड़ने से लेकर आज नवरात्रि का आयोजन और छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा के अनावरण होने तक की यह यात्रा मोदी जी की नेतृत्व क्षमता और कुशल प्रशासनिक कौशल को दर्शाता है।

 

बैठक में इस चर्चा को आगे बढ़ाते हुए BJP के युवा नेता Ravi Tiwari जी ने आगामी लोकसभा चुनाव की चुनौतियों से निपटने का भी एक खाका खींचने का प्रयास किया और बीजेपी कार्यकर्ताओं के अंदर प्रेरणा और उत्साह का संचार करने का प्रयास किया। श्री तिवारी ने यहाँ कार्यकर्ताओं से अपील की कि आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सभी लोग कमर कस लें एवं अपने निजी स्वार्थ और लालच को दरकिनार करते हुए पूरे समर्पण के साथ मोदी जी के द्वारा किये गए विकास कार्यों का ब्यौरा जनता के सामने प्रस्तुत करें ताकि जनता विरोधियों द्वारा फैलाये जा रहे किसी भी तरह के दुष्प्रचार एवं भ्रम में न आए और अपना मूल्यवान वोट राष्ट्र एवं समाज के हित में मोदी जी को ही दे।