रवि तिवारी (Ravi Tiwari): पीएम स्वनिधि योजना से 55 लाख रेहड़ी-पटरी वालों को मिली आर्थिक सहायता

बीजेपी के युवा नेता रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि प्रधानमंत्री जी का लक्ष्य देश के विकास और सरकारी योजना के लाभ को अंतिम पंक्ति में खड़े इंसान तक पहुँचाने का होगा। अपने इस मिशन में पीएम मोदी काफी हद तक सफल होते दिखाई पड़ रहे हैं।

भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री ने देश की सत्ता संभालने के बाद पहली प्रतिक्रिया दी थी। जिसमे उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार देश के गरीबों, शोषित और वंचितों को समर्पित होगी।

अब तक पीएम स्वनिधि योजना (PM Svanidhi Yojana) से करीब 55 लाख लाभार्थियों को स्वरोजगार से जोड़ा गया है। जिसके लिए उन्हे आर्थिक सहायता प्रदान की गयी है। आर्थिक सहायता प्राप्त लाभकर्ताओं ने विभिन्न क्षेत्र में स्वरोजगार शुरू किया। जिस कारण वह भी आत्मनिर्भर होकर सम्मानपूर्वक जीवन जी रहे हैं।

रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि स्ट्रीट वेंडर्स जिन्हे हम रेहड़ी-पटरी वाले कहकर भी सम्बोधित करते है, सबसे अधिक इस योजना का लाभ उन्हे ही मिला है। पीएम स्वनिधि योजना ने उनके जोवन को काफी आसान बनाया है और सम्मान से जीने का अवसर प्रदान किया है।

क्या है पीएम स्वनिधि योजना?

कोरोना काल के बाद जनता को आर्थिक मोर्चे पर काफी गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ा। छोटे कस्बे और गाँवो से निकलकर लोग बड़े शहरों में नौकरी के लिए जा पाने में असमर्थ थे। उनकी बचत भी कोरोना की भेंट चढ़ चुकी थी।

रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि ऐसे में पीएम स्वनिधि योजना से देश के करीब 50 लाख से ज्यादा लोगो को लाभ पहुँचाया गया। इस योजना से रेहड़ी-पटरी वालों को अपना व्यवसाय फिर से शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता ऋण के तौर पर उपलब्ध कराई गयी।

इस योजना से लोगो को सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अवसर प्रदान किया गया। इस योजना का उद्देश्य कोरोना काल में रोजगार गंवाने वाले लोगों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए आर्थिक मदद पहुँचाना था।

रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि पीएम स्वनिधि योजना (PM Svanidhi Yojana) देश में 1 जून 2020 को शुरू हुई थी। आंकड़ों के अनुसार 20 जुलाई 2023 तक लाभार्थियों के खाते में 6492 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं।

पीएम स्वनिधि योजना (Svanidhi Yojana) का उद्देश्य?

  • पीएम स्वनिधि योजना का उद्देश्य सरकार की तरफ से भारत के स्ट्रीट वेंडर्स या रेहड़ी-पटरी वालों को उनके व्यवसायों को शुरू करने और बढ़ाने के लिए बिना किसी गारंटी के आर्थिक सहायता (ऋण) की सुविधा प्रदान करना है।
  • पीएम स्वनिधि के तहत लाभकर्ता 1 वर्ष की अवधि के लिए बिना किसी गारंटी के 10,000 रुपये तक की पूंजी ऋण के रूप में प्राप्त कर सकता है। यदि लाभकर्ता  सही समय पर इस लोन का भुगतान कर देता है तो 20,000 रुपये का लोन पुनः प्राप्त कर सकता है। फिर से वही प्रक्रिया दोहराने पर तीसरी बार उसे 50,000 रुपये का लोन मिलता है।
  • पीएम स्वनिधि योजना के जरिए प्रति वर्ष 1,200 रुपये तक कैशबैक मिल सकता है यदि आप डिजिटल लेन-देन करते हैं।

ऐसे कर सकते हैं पीएम स्वनिधि योजना के लिए आवेदन?

रवि तिवारी (Ravi Tiwari) ने बताया कि केंद्र सरकार की आधिकारिक वेबसाइट https://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर जाकर आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। दिए गए फॉर्म को आप ठीक तरह से भरकर इस योजना का लाभ उठा सकते है। अगर आपको मोबाइल से आवेदन करना है तो उसके लिए पीएम स्वनिधि एप्लीकेशन डाउनलोड करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *